इंदौर: चोरी की शंका में थाने में युवक की पिटाई से मौत, थाना प्रभारी निलंबित

9,481

इंदौर। मात्र चोरी की शंका में इंदौर पुलिस ने एक युवक की इतनी पिटाई की कि उसकी मौत हो गई। मामला सामने आने के बाद थाना प्रभारी को निलम्बित कर जांच बैठा दी गई है।

 इंदौर के थाना गांधी नगर पुलिस ने चोरी की शंका में एक युवक को हिरासत में लिया और बेरहमी से पीटा यही नहीं उसकी वृद्ध मां को भी हिरासत में लेकर युवक के सामने पीटा गया। मंगलवार देर रात युवक की तबीयत बिगड़ गई और मौत हो गई।

एडीजी रुचिवर्धन मिश्र ने महिला टीआई को तत्काल सस्पेंड कर ज्यूडिशियल जांच बैठा दी है। घटना गांधीनगर थाने पर मंगलवार रात करीब 8 बजे की है। इंदरसिंह व तीन पुलिसकर्मी 22 वर्षीय संजू पिता हिंदूसिंह निवासी इंजलाय नैनोद मल्टी के पास गांधीनगर को मृत अवस्था में एमवाय अस्पताल लेकर पहुंचे। कुछ देर बाद अफसर पहुंचे और कहा कि संजू की थाने में पूछताछ के दौरान तबीयत बिगड़ गई। कुछ देर बाद संजू के परिजन थाने पहुंच गए और टीआई नीता देअरवाल व 4 पुलिसकर्मियों पर हत्या का आरोप लगाया।

मृतक की बहन संजू ने मीडिया को बताया की मेरा भाई मिस्त्री है। मंगलवार दोपहर 2 बजे पुलिसकर्मी राजेश, शिव, सुनील रघुवंशी, इंदरसिंह राठौर व महिला सिपाही मान ने संजू को पकड़ लिया और कहा तूने चोरी की है। उसे थाने में दिनभर पीटते रहे। उन्होंने मां नंदीबाई (60) को भी चांटे मारे और बंद कर दिया। शाम को तीन-चार पुलिसवाले मेरे घर आए और बोले संजू ने चोरी कबूल कर ली है। चोरी के जेवरात तेरे घर छुपाए हैं। मैंने कहा, मेरे पास जेवर नहीं हैं। मेरे पास यह पायल है। उसका बिल भी है। पुलिस वाले मुझे भी थाने ले गए। वे मां और भाई को हाथ-पैर बांधकर पीट रहे थे। टीआई ने मुझसे कहा- तू भी चोरी में शामिल है। तेरी भी पिटाई होगी। कुछ देर बाद संजू को निकाला और थाने की गाड़ी में लेकर अस्पताल भागे।